What is Hotel Management Course 2022,होटल मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे?

what is hotel management course: 12वी परीक्षा पास करने के बाद अधिकतर विधार्थी के मन में सवाल होता है की आगे क्या करे ऐसे में अगर आपको अलग-अलग लोगों से मिलना, उनसे बातें करना और मेहमानों का स्वागत करना अच्छा लगता है तो आप होटल इंडस्ट्री से जुड़े होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर अपना करियर बना सकते है। होटल इंडस्ट्री ही है जो सर्विस दे कर टूरिस्ट को सभी जरुरी सुविधायें मुहैया करवा कर देश-दुनिया घूमने में सहयोग करते है. आज के इस पोस्ट में मई आपको बताऊंगा की what is hotel management और होटल मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे? साथ ही में आपको बताऊंगा की what is the fees of hotel management course और इस hotel management course के करने के बाद career options क्या है. इसके अलावा भी बाहर सारे सवाल है जिसका जबाद इस पोस्ट में मिलेगा तो ध्यान से शुरू से लास्ट तक पढ़े.

देश से लेकर विदेश तक के पर्यटक भारत की संस्कृति, परंपराओं, सामाजिक और आर्थिक गतिविधियों को जानने-समझने के लिए हर साल लाखों पर्यटक यहां आते हैं. जो की साल-दर-साल बढ़ती जा रही है इसी वृद्धि ने देश में टूरिज्म एवं इससे संबंधित होटल इंडस्ट्री को तेज रफ्तार प्रदान की है. यही कारण है कि एक बेहतरीन करियर के रूप में Hotel Management Course उभरा है. आप अगर इस क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं, तो 12वीं के बाद होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर होटल इंडस्ट्री में कदम रख सकते हैं.

what is hotel management courses after 12th

हॉस्पिटैलिटी या होटल एडमिनिस्ट्रेशन के व्यवसाय को सफलता पूर्वक चलाना ही होटल मैनेजमेंट कहलाता है। Hotel Management एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें हॉस्पिटेलिटी और खाने-पीने से जुड़े सभी काम शामिल होते हैं जैसे होटल, रेस्टोरेंट, रिसॉर्ट, कैफ़े, आदि। होटल एक बहुत ही बड़ी इंडस्ट्री है जिसमें कई सारे विभाग हैं लेकिन जो सबसे महत्वपूर्ण है उनमें हाउसकीपिंग, फ्रंट ऑफ़िसर, फ़ूड प्रोडक्शन और बेवरेज सर्विस आते है।

होटल मैनेजर का क्या काम होता है?

एक होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में होने के तौर पर आपको फाइनेंस, सर्विस, प्लानिंग और ऑर्गेनाइज़ेशन का पूरा ज्ञान होना चाहिए। अलग अलग विभाग की अलग अलग काम और ज़िम्मेदारियाँ होती हैं, जैसे कि फ्रंट ऑफ़िस का होता है मेहमानों का स्वागत करना और उनको होटल में अंदर ले जाना, और हाउसकीपिंग का काम होता है कि मेहमानों के लिए साफ-सुथरा कमरे में नए चादर, तकिए, कप, गिलास, आदि तैयार करें। इसी तरह फ़ूड और बेवरेज सर्विसेज़ का काम होता है कि वे खाने पीने से जुड़े कामों को व्यवस्थित रखे साथ ही यह भी देखना होता है कि मेहमानों के आर्डर के लिए मेन्यू तैयार है या नहीं।

मैनेजमेंट विभाग यह सुनिश्चित करता है कि ये सभी काम अच्छी तरह और बिना रुकावट चलें साथ ही संगठन से जुड़े रोज़ के काम भी बना किसी गलती के अच्छे से किये जायें। एग्जीक्यूटिव लेवल के मैनेजमेंट का काम जैसे योग्य स्टाफ़ की नियुक्ति करना, उनकी उपस्थिति लिखना और उनके वेतन और अन्य खर्चों का हिसाब-किताब रखना होता है। यही नहीं होटल एंबिएंस (ढांचा, सुविधा) और होटल की प्रतिष्ठा का भी ध्यान भी रखना होता हैं।

उच्च स्तर के होटल मैनेजर या सुपरवाइज़र का काम बिज़नेस क्लाइंट के साथ मीटिंग और प्रेज़ेन्टेशन आदि तैयार करना होता है । कुछ और ज़िम्मेदारियाँ जिनमें समय समय पर आर्थिक परिस्थितियों का लेखा-जोखा देखना, ज़रूरत पड़ने पर ऑपरेशनल रूटीन में बदलाव करना और किसी भी नकारात्मक फ़ीडबैक मिलने पर उनमें सुधार करना, आदि शामिल होते हैं।

होटल मैनेजमेंट में करियर स्कोप

अब Hotel Management सिर्फ एक होटल तक ही सिमित नही रह गया है बल्कि इसका दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है जिसमें कई करियर राहें मौजूद हैं. Hotel Management में डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करने के बाद क्लब मैनेजमेंट, होटल और रेस्टोरेंट, हॉस्पिटैलिटी एवं कैटरिंग, एयरलाइन कैटरिंग और केबिन सविर्सेज, गेस्ट हाउस, क्रूज शिप होटल मैनेजमेंट, फॉरेस्ट लॉज, होटल और कैटरिंग संस्थान, शिपिंग कंपनी, बैंक, रेलवे, सशत्र बल के कैटरिंग विभाग, होटल एवं टूरिज्म संस्थान में नौकरी कर सकते हैं. इसके अलावा अच्छे प्रशिक्षण और कार्यानुभव रखनेवाले लोग खुद का बिज़नेस स्टार्ट कर सकते है।

Also Read….

what is the qualification for hotel management

किसी भी स्ट्रीम में मान्यताप्राप्त संस्थान से 12वीं में 50 प्रतिशत न्यूनतम मार्क्स के साथ पास करनेवाले छात्र होटल मैनेजमेंट में सर्टिफिकेट,(what is hotel management degree) डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते हैं. सर्टिफिकेट कोर्स की अवधि छह महीने से लेकर एक वर्ष तक होती है. डिप्लोमा कोर्स की अवधि डेढ़ से दो वर्ष और बैचलर कोर्सेज की तीन वर्ष होती है. होटल मैनेजमेंट में स्नातक करने के बाद आप मास्टर्स भी कर सकते हैं. यही नहीं देश के कई Hotel Management शैक्षणिक संस्थानों में विभिन्न स्पेशलाइज्ड कोर्स भी कराये जाते हैं.

12वीं पास करने के बाद Hotel Management Course/होटल एडमिनिस्ट्रेशन में बी.ए./रेस्टोरेंट मैनेजमेंट/होटल मैनेजमेंट में बी.ए./ Hotel Management में बी.बी.ए/ हॉस्पिटैलिटी& होटल एडमिनिस्ट्रेशन में बी.एससी कर सकते हैं। और इसके बाद होटल मैनेजमेंट में एमबीए कर सकते हैं।

सफलता के लिए जरूरी स्किल्स/कौशल

अगर आप Hotel Management के क्षेत्र में करियर बना कर सफलता पाना चाहते है तो जरुरी शैक्षणिक योग्यता के अलावा कुछ गुणों का होना भी आवश्यक होता है. (Hotel Management Course) क्योकि इस इंडस्ट्री में काफी देशों पर्यटक आते है जिनसे संवाद करने के लिए आपका कम्युनिकेशन स्किल बेहतर होना चाहिए. आपमें किसी भी तरह के मुद्दों पर तार्किक ढंग से सोचने की क्षमता और प्रशासनिक दक्षता होना जरूरी है. आत्मविश्वास और धैर्य के साथ प्रत्येक काम को बारीकी से समझने की क्षमता भी आपके अंदर हो. विदेशी भाषाओं का ज्ञान आपके काम को आसान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. इसके अलावा कुछ और भी स्किल है जो नीचे दिया गया है:-

सक्रिय होकर सुनना – होटल में आए मेहमान क्या कह रहे हैं उनको ध्यान से सुनना, उनके द्वारा बनाये जा रहे पॉइंट्स को समझना , सवाल पूछना, इत्यादि।

स्थानीय व विदेशी भाषा में ज्ञान:- फ्रेंच, जर्मन, जापानी, चीनी, इतालियन , स्पेनिश, जैसी विदेशी भाषा का ज्ञान आपके करियर में चार चाँद लगा सकते है। इसके अलावा स्थानीय भाषा जैसे कि हिंदी, तमिल, तेलुगु, गुजराती, बंगाली, असमिया, आदि का ज्ञान भी आपके करियर के लिए अच्छा साबित हो सकता है.

रूचि के हिसाब से चुने क्षेत्र

1. अगर आप फ़ूड और बेवरेज सर्विस डिपार्टमेंट में रुचि रखते हैं, तो आप शेफ़/बेकर/कुक,एफ़ & बी मैनेजर, फ़ूड सर्विस वर्कर, एफ़ & बी मैनेजर/किचन स्टुअर्ड (मैनेजर)/रेस्टोरेंट मैनेजर, फ़ूड सर्विसेज़ डाइरेक्टर के रूप में आगे बढ़ सकते है।

2. अगर आप हाउसकीपिंग डिपार्टमेंट में रुचि रखते हैं तो आप हाउसकीपर, हाउसकीपिंग मैनेजर, एग्जीक्यूटिव हाउसकीपर के रूप आगे बढ़ सकते हैं: अगर आप फ्रंट डेस्क/एकमोडेशन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के साथ काम करने में रुचि रखते हैं, तो आप ऑफ़िस असिसेन्ट/बैक ऑफ़िस एग्जीक्यूटिव के रूप में आगे बढ़ सकते हैं।

3. एग्जीक्यूटिव लेवल पर काम करते हुए आप आगे बढ़ते हुए विभाग के प्रमुख, मानव संसाधन मैनेजर, या एक होटल मैनेजर के असिसेन्ट बन सकते हैं। पर्याप्त अनुभव प्राप्त करन के बाद आप होटल के मैनेजर और यहां तक कि मैनेजमेंट के प्रमुख भी बन सकते हैं।

Hotel Management course Entrance Exam

होटल मैनेजमेंट कोर्स करने के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से आयोजित होनेवाले नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (एनसीएचएम जेइइ) में भाग लेना होगा.(Hotel Management Course) इस NCHM JEE परीक्षा में सफलता प्राप्त करनेवाले छात्र देश के प्रमुख सरकारी एवं प्राइवेट Hotel Management institute के बीएससी हॉस्पिटेलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स में एडमिशन ले सकते है.

एनसीएचएम जेईई परीक्षा पैटर्न:

12वीं के बाद Hotel Management में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के द्वारा नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (NCHM JEE Exam ) कंप्यूटर आधारित परीक्षा लिया जाता है। जिसमे न्यूमेरिकल एबिलिटी एवं एनालिटिकल एप्टीट्यूट, रीजनिंग एंड लॉजिकल डिडक्शन, जनरल नॉलेज एवं करेंट अफेयर्स, इंग्लिश लैंग्वेज और एप्टीट्यूड फॉर सर्विस सेक्टर विषयों से 200 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते है हर प्रश्न के लिए 4 अंक दिया जाता हैं वही गलत उत्तर के लिए 1 अंक काट भी लिया जाता है. और ये सभी प्रश्न अंग्रेजी और हिंदी दोनों में होता है एनसीएचएम जेइइ परीक्षा कुल 3 घंटे का होता है

न्यूमेरिकल एबिलिटी एवं एनालिटिकल एप्टीट्यूट

इस NCHM JEE परीक्षा में Numerical Ability and Analytical Aptitude में से कुल 30 प्रश्न पूछे जायेंगे. ये सभी प्रश्न दसवीं क्लास तक के मैथ से होता है. इस लिए अगर आप अच्छा स्कोर करना चाहते है तो दसवीं तक की मैथेमैटिक्स का फॉर्मूले व शॉर्ट कट अच्छे से याद रखे और अच्छे से रिवाइज्ड करें

.रीजनिंग एंड लॉजिकल डिडक्शन

Reasoning and logical deduction से पूछे गए सवाल सेक्शन में अच्छा स्कोर करने के लिए छात्रों को Circular Arrangement, Letter Series, Assertion and Reasoning, Venn Diagram and Number Series जैसे चैप्टर की सही तैयारी अच्छा नंबर ला सकता है इसके अलावा Non Verbal Reasoning और Simple puzzles की भी तैयार अच्छे से करें.

जनरल नॉलेज एवं करेंट अफेयर्स

जनरल नॉलेज और करेंट अफेयर्स से भी प्रश्न पूछे जाते है जो की आपके लिए सबसे स्कोरिंग सेक्शन साबित हो सकता हैं, अगर आप जनरल नॉलेज और करेंट अफेयर्स की तैयारी मजबूती से की गयी हो. जनरल नॉलेज और करेंट अफेयर्स से 40 फीसदी प्रश्न भारत के इतिहास, पॉलिटिकल साइंस, इकोनॉमी और ज्योग्राफी से पूछे जाते हैं. वहीं 60 फीसदी प्रश्न हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री, पर्सनैलिटी, अवॉर्ड्स, स्पोर्ट्स, साइंस, इंटरनेशनल रिलेशन्स और टेक्नोलॉजी से होते हैं.

इंग्लिश लैंग्वेज

English language के सेक्शन में 12वीं तक की ग्रामर से प्रश्न पूछे जाते है जिसमे Antonyms, Synonyms, Idioms, Sentence Correction, Detection and One Word Substitution, से प्रश्न होते हैं.

एप्टीट्यूड फॉर सर्विस सेक्टर

Aptitude for Service Sector के सेक्शन में हॉस्पिटैलिटी सेक्टर से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं. इसलिए आपको हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में होनेवाले नये परिवर्तनों एवं मुख्य घटनाओं की जानकारी अच्छे नंबर दिला सकता है .

एनसीएचएम जेइइ आवेदन शुल्क

एनसीएचएम जेइइ का फॉर्म भरने के लिए आवेदन शुल्क के रूप में सामान्य व अन्य पिछड़ा जाती के परीक्षार्थियों को 1000 रुपये, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परीक्षार्थियों को 700 रुपये और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं ट्रांसजेंडर परीक्षार्थियों को 450 रुपये देना होगा.

Diploma in Hotel Management course

1.डिप्लोमा इन फ्रंट ऑफिस
2.डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग
3.डिप्लोमा इन फूड प्रोडक्शन
4.डिप्लोमा इन बेकरी एंड कंफेक्शनरी
5.डिप्लोमा कोर्सेस इन होटल मैनेजमेंट
6.डिप्लोमा इन फूड एंड विवरेज सर्विसेज
7.डिप्लोमा इन होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट

Bachelor in Hotel Management course

1.बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट बीएचएम (BHM)
2.होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी (BHMC)
3.बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (Hotel management)
4.बैचलर ऑफ हॉस्पिटैलिटी एवं मैनेजमेंट
5.बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट इन फ़ूड एंड बेवरेज

Post graduation in Hotel Management

1.सर्टिफिकेट इन फ़ूड और बेवरेजेस
2.सर्टिफिकेट इन होटल और कैटरिंग मैनेजमेंट
3.सर्टिफिकेट इन हाउस किपिंग
4.सर्टिफिकेट इन फ्रंट ऑफिस

होटल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट/कॉलेज

1.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रीशन, दिल्ली
2.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड अप्लाइड न्यूट्रीशन, मुंबई
3.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड अप्लाइड न्यूट्रीशन, चेन्नई
4.डिपार्टमेंट ऑफ होटल मैनेजमेंट, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
5.आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, बैंगलोर
6.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रीशन, पंजाब
7.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, केरल
8.वेलकम ग्रुप ग्रेजुएट स्कूल ऑफ होटल एडमिनिस्ट्रेशन, उडुपी
9.इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड अप्लाइज न्यूट्रीशन, लखनऊ
10.इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, अहमदाबाद

hotel management course institute

what is the fees of hotel management course

किसी भी hotel management course का फीस (fees of hotel management course) इंस्टिट्यूट/कॉलेज पर निर्भर करता है प्राइवेट इंस्टिट्यूट का फीस लगभग पचास हजार से लेकर एक लाख रूपये प्रति साल होता है वही अगर सरकारी कॉलेज की बात करे तो चालीस हजार से लेकर साठ हजार रूपये प्रतिवर्ष होता है

what is the salary of hotel management

इस होटल इंडस्ट्री में ऑपरेशनल लेवल के कर्मचारी को प्रति महीने 9,000 से 25,000 तक सैलेरी दिया जाता हैं। (salary of hotel management) वही एग्जिक्यूटिव स्तर पर काम करने वाले कर्मचारी को 25,000 से 1,50,000 रुपए प्रति महीने सैलेरी दिया हैं। एडमिनिस्ट्रेशन स्तर पर काम करने वाले कर्मचारी को प्रति साल क़रीब 75,000 से 3,00,000 तक दिया जाता हैं।

5 स्टार होटलों में सैलेरी सबसे ज़्यादा और 2-स्टार होटलों में सबसे कम दिया जाता है। 2-स्टार होटल छोटे स्तर पर काम करते हैं और उनमें बेसिक कमरे होते हैं, वे लग्ज़री होटल की श्रेणी में नहीं आते हैं। 2-स्टार होटलों में इन-हाउस रेस्टोरेंट या वेलवेट पार्किंग की सुविधा भी नहीं होती है। जैसे आप 3-स्टार से 5-स्टार की ओर तरक़्क़ी करते हैं तो उनमें सुविधाओं की संख्या बढ़ती जाती है जैसे पूल, बार, स्पा रूम, कॉफ्रेंस रूम, आदि। जैसे जैसे सुविधाएं बढ़ती जाती हैं उनके हिसाब से मैनेजमेंट को केटरिंग की व्यवस्था को ज़्यादा मेहमानों के लिए बढ़ाना होता है। (Hotel Management Course) इसलिए बड़े होटलों में सैलेरी ज्यादा दी जाती है बड़े होटलों में बढ़ोतरी के ज़्यादा अवसर उपलब्ध होते हैं।